Actor
Trending

Murari lal pareek life story.

Murari lal pareek life story.

मुरारी की कहानी मुरारी की जुबानी।

सफलता और कामयाबी की चाहत तो सभी करते हैं। लेकिन सफलता पाने के लिए संघर्ष और मेहनत से कतराते हैं। आज हम आपको ऐसे ही एक राजस्थानी हास्य कलाकार मुरारी लाल पारीक के जीवन संघर्ष की कहानी बताने जा रहे है  जो कि राजस्थान के चुरू जिले के रतनगढ़ तहसील मे गोगासर गांव के रहने वाले हैं।आइए आपको मस्त मुरारी की दुनिया की खास बातें बताते हैं।

मुरारी जी का कहना है, घर और गांव दोनों में ही हंसी मजाक का माहौल बचपन से ही देखने को मिला है। पिताजी और दादा जी हंसमुख स्वभाव के थे। मुरारी जी ने बचपन से ही खेती-बाड़ी और गांव का माहौल देखा और जीवन में काफी संघर्ष किया। उनके घर की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी इसी कारण उन्हें पढ़ाई बीच में छोड़नी पड़ी। मुरारी जी नवमी कक्षा तक पढ़े हैं। 1987 में 18 साल की उम्र में ही आसाम चले गए। वहां मात्र रुपए 700 प्रति महीने में अपना सारा गुजारा करना पड़ता था। नौकरी के दौरान उनके अच्छे स्वभाव के चलते हुए, सभी साथी उनसे बहुत खुश रहते थे। हंसी मजाक का माहौल बना रहता था। एक हास्य कलाकार अपनी छवि कहीं भी बना लेता है। मुरारी जी ने कई नौकरियां की है, मगर उनका मन लोगों को खुश करने में ज्यादा लगता था बजाय नौकरी करने में। आसाम में स्टेज शो और जागरण में एंकरिंग करने लगे। नौकरी और शॉक दोनों एक साथ पूरे करना मुमकिन ना हो सका और नौकरी छोड़नी पड़ी। आसाम में मित्र प्रदीप पारीक से काफी सपोर्ट मिला। कुछ समय बाद  पूंजी इकट्ठा करके बैंगलोर में खुद का कपड़े का कारोबार शुरू किया। उस दौर में उन्होंने DD1 पर पहली “कायाकल्प” नाटक में बतौर एक्टर के रूप में काम किया और DD1 पर ही रणभेरी नाटक में करीब 78 एपिसोड में भी काम कर चुके हैं। सुल्तान व फ्रीकी अली जैसी बड़ी फिल्मों में भी रोल कर चुके हैं। मुरारी जी बॉलीवुड के हास्य कलाकार राजू श्रीवास्तव को अपना आइडल मानते हैं और उन्हीं के वीडियोस देख कर अभिनय करना सीखा। बैंगलोर में उनके मित्र महेंद्र गोड़ ने फिल्म की कहानी लिखने का प्रस्ताव मुरारी जी के आगे रखा। मुरारी जी के बार-बार मना करने पर भी महेंद्र जी नहीं माने और मुरारी जी ने फिल्म की कहानी लिखी। मुरारी जी ने मुख्य किरदार निभाया, फिल्म का नाम “मेरो बदलो” था। फिल्म की स्टोरी पर मुरारी जी को बेस्ड स्टोरी राइटर का अवार्ड भी मिला। उसके बाद मुरारी जी ने अपने शौक को भी अपना जुनून बना लिया। कॉमेडी वीडियोस बनाने शुरू कर दिए सोशल मीडिया में उनकी वीडियोस आने लगे और उनके चाहने वाले भी बढ़ने लगे। उनके वीडियोस की खास बात यह रहती है, कि वे राजस्थानी भाषा में ही कॉमेडी करते हैं और उनके वीडियोस हर तरह की उम्र के लोग देखना पसंद करते हैं। वीडियोस सोशल मीडिया में काफी वायरल होने लगे। लोगों में इनके लिए एक नई पहचान बनी, फिर इन्होंने मुरारी की कॉकटेल नाम से एक यूट्यूब चैनल की शुरुआत की। चैनल पर पूरी दुनिया भर से सब्सक्राइबर जुड़े हुए हैं। दुनिया के 142 देश उनको देखना पसंद करते हैं। पर शुरुआती समय में आय का साधन नहीं होने के कारण इन को काफी दिक्कत हुई थी। मुरारी जी की लड़ाई खुद उनके शौक से थी। मुरारी जी हार मानने वालों में से नहीं थे। शादी को लेकर भी काफी अड़चन आई। फिर कुछ समय बाद इनको कार्यक्रम के प्रस्ताव आने लगे और घर वाले भी इनको सपोर्ट करने लगे। राजस्थान के फिल्मी सितारों में भी इनकी जान पहचान बढ़ने लगी। आज यूट्यूब पर इनके दस लाख से ज्यादा सब्सक्राइबर्स है। मुरारी जी का सबसे पसंदीदा किरदार सास का है, सास का किरदार उनकी मां की छवि दर्शाता है।

जन्मभूमि से अत्यधिक लगाव होने के कारण सारी शूटिंग गांव में होती है, क्यों कि सब्सक्राइबर शहर के मुकाबले गांव का माहौल देखना ज्यादा पसंद करते हैं। मुरारी जी की सबसे बड़ी बात यह है कि एक ही वीडियो में खुद मुरारी जी के भी कई किरदार देखने को मिलेंगे। वीडियोस में उनके बच्चों ने भी अच्छा अभिनय किया है। उनके मित्र भवानी पारीक अब उनके साथ में काम नहीं कर रहे हैं। मगर इन से उनके दर्शकों को कोई फर्क नहीं पड़ा। उनका कहना है कि “दर्शकों पर निर्भर करता है कि वह किसको देखना पसंद करते हैं इसमें उन्हें कोई दिक्कत नहीं है, भवानी पारीक भी काफी अच्छे कलाकार हैं।”

मुरारी की टीम।

मुरारी की कॉकटेल की टीम तो काफी बड़ी है वैसे पूरा गांव उन्हें काफी सपोर्ट करता है। हाल ही में उनकी मुलाकात सजनी पारीक से हुई जो कि काफी उम्दा अभिनय करती है। सजनी पारीक मेड़ता राजस्थान से है। मुरारी जी अपनी टीम के साथ में अच्छे से अच्छा कार्य करने की कोशिश में लगे रहते हैं। इनके कॉमेडी वीडियोस में किसी भी तरह की अभद्रता नहीं रहती है ना ही वह अभद्र चुटकुलों का प्रयोग करते हैं।

मुंबई के सफर में उन्होंने बहुत तकलीफों का सामना करना पड़ा। कई जगह पर ऑडिशन देने पड़े। वहां उनकी मुलाकात आमिर भरड से हुई उन्हें मुरारी जी की एक्टिंग इतनी पसंद आई कि उन्होंने खुद फिल्म बनाने का निर्णय ले लिया और मुरारी जी के साथ में राजस्थान आ गए।

पहली बार गाया गाना।

हाल ही में उन्होंने अपना एक गाना रिलीज किया जिसका नाम है “वेलकम थारो” जिसमें रविंद्र उपाध्याय,  रैपरिया बालम और खुद मुरारी जी ने इस गीत को गाया है। यूट्यूब पर इस गीत में धूम मचा रखी है, इस गाने को 10 लाख से ज्यादा लोगों ने देखा है। उन्होंने बताया कि उनका यह पहला गाना है। इस बात को लेकर मुरारी जी काफी उत्सुक थे और उनका अनुभव भी बहुत जबरदस्त था। इस किस्से के बाद में उनकी राजस्थान में काफी अच्छी फैन फॉलोइंग हो रही है और उनको बहुत सारे फोन कॉल और मैसेजेस आते हैं और कुछ लोग तो घर पर ही मिलने आ जाते हैं।

लोग सही कहते हैं कि जिनका जीवन संघर्षों से भरा रहता है और सफलता पाने के लिए हर भरपूर कोशिश करते हैं, मगर वह दुनिया की फिक्र नहीं करते हैं।

हम साधारण लोगों का असाधरण जीवन संघर्ष हमारी वेबसाइटknownpedia पर पब्लिश करते है। mystory@knownpedia.com

We publish the extraordinary life struggle of ordinary people on our website knownpedia.

mystory@knownpedia.com

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
2

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close