Spotlight
Trending

World biggest statute in india.

World biggest statute in india.

नमस्कार दोस्तों,

सबसे कम समय में बनने वाली यह प्रतिमा दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा।

यह मूर्ती सरदार वल्लभ भाई पटेल की है। सरदार वल्लभ भाई भारत सरकार के द्वारा गुजरात के अहमदाबाद मे बनी है। यह स्मारक सरदार सरोवर बांध से 3.2 किमी की दूरी पर साधू बेट नामक स्थान पर है जो कि नर्मदा नदी पर एक टापू है। यह मूर्ति 7 किलोमीटर दूर से ही नजर आने लगती है। इस मूर्ति की ऊंचाई करीब 182 मीटर है। इस मूर्ति में एक लिफ्ट लगी है जो लिफ्ट पटेल जी के हृदय तक जाती है वहां से नर्मदा नदी के तट पर बड़ी फूलों की घाटी का नजारा देखने को मिलता है। यह मूर्ति दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है दूसरे नंबर पर चीन में Spring Temple Buddha की मूर्ति जो कि 153 मीटर ऊंची है। तीसरे नंबर पर laykyun setkyar को मूर्ती 116 मीटर ऊँची जो की म्यांमार में है। स्टेचू ऑफ यूनिटी में करीब 5 साल का वक्त लगा। सबसे कम समय में बनने वाली यह प्रतिमा दुनिया की सबसे बड़ी प्रतिमा है। बुद्ध की 153 मीटर ऊंची प्रतिमा को बनने में करीब 90 साल लगे थे।

मूर्ति की खासियत।

यह मूर्ति आर्किटेक्चर ने इस तरह से बनाया गया है 6. 5 की तीव्रता का भूकंप और 220 किमी प्रति घंटे की हवाओं की रफ्तार वाला तूफान भी इस मूर्ति का कुछ नहीं बिगाड़ सकता।

शिल्पकार राम सुथार का कहना है की प्रतिमा सिंधु घाटी सभ्यता की प्राचीन कला से बनाया गया है। इसमें चार प्रकार की धातु का उपयोग किया गया है जिसे कई सालों साल तक मूर्ति को ज़ंग नहीं लगेगा। मूर्ति के हृदय तक जाने के लिए लिफ्ट लगी है जहां पर नर्मदा नदी का बांध और फूलों की घाटी का नजारा देखने को मिलेगा।

पटेल जी की प्रतिमा बनाने वाले शिल्पकार पद्मश्री पद्मश्री राम सुथार और उनके बेटे अनिल सुथार ने बहुत ही सुंदर व नायाब काम कर दिखाया है। प्रतिमा को पूरा करने के लिए अमेरिकन आर्किटेक्ट माइकल ग्रेस और टनल एसोसिएट्स कंपनी को हायर किया गया है। प्रतिमा के चेहरे की ऊंचाई 7 7 मंजिला इमारत के जितनी है। 70 फीट के हाथ है व 6 फीट बड़े होठ है। सबसे कम वक्त में बनने वाली इस मूर्ति का अनावरण 31 अक्टूबर को माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किया जाएगा।

Statue of unity.

Today, we have brought surprising news. Recently, the Gujarat government has built the world’s tallest statue in the shortest possible time. Which will be unveiled on October 31. Let us elaborate on this.
The Government of India has formed “the Statue of Unity” in Gujarat.  “The world’s tallest statue”, is dedicated to Sardar Vallabhbhai Patel.  It will be located facing the Narmada Dam, 3.2 km (2.0 mi) away on the river island called Sadhu Bet near Vadodara in Gujarat. This statue is noticeable from 7 km away. The height of this statue is 182 meters. There is a lift in this idol which goes to the heart of  Patel Ji, from there on the banks of river Narmada, the view of flower valley gets seen. This idol is the highest statue in the world, second to the statue of Lord Buddha in China, which is 153 meters high. At number three, the statue is 116 meters high in laykyun setkyar which is in Myanmar. It took about 5 years for the Statue of Unity. This statue, built in the shortest time. This is the largest statue in the world. It took about 90 years for the Buddha’s 153-meter high statue.

Special things of the idol.

This statue architecture has been designed in such a way that a 6.5-magnitude earthquake and a speed of 220 kmph wind cannot spoil this idol.
The architect Ram Suthar says that the statue is made from the ancient art of the Indus Valley Civilization. There are four types of metal used, which for many years the idol will not be rusted. 85 per cent copper has been used in the idol. To reach the heart of the statue, there is a lift which will be seen from the Narmada river dam and the floral valley.
Padmashree Ram Suthar and his son Anil Suthar, have done very beautiful and unmatched work. American architects Michael Grace and Tunnel Associates Company have been hired to complete the statue. The height of the face is as high as the 7-storey building. 70 feet is the hand and 6 feet big lips. This idol, created in the shortest time, will be unveiled by Hon’ble Prime Minister Narendra Modi on October 31. This is the world’s largest statue.
Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close