Spotlight
Trending

Jeeman 2019 in London.

Jeeman 2019 in London.

On June 23 jeeman is going to be in London. Rajasthani colour will be scattered out of India.

Jeeman is being organized for the past four years by the Rajasthan Association UK which keeps the Rajasthani culture on foreign earth, and this time the preparation of the jeeman is going joyfully. People living in every part of London Come to this ceremony.

All men and women will be seen in traditional Rajasthan garment in the event. Through this program abroad, all the residents of Rajasthan get the message of staying connected with their land and culture. All the people who come in the jeeman say that while living abroad, they were unable to forget the place they birth and that’s why they created this association and every year we celebrate Ganagor and jeeman.

Ganagaur festival celebrates by the Rajasthan Association UK in March. The making of idols of gaur and ishar ji, their makeup and clothes were all done from Jodhpur Rajasthan and later export to London.

In 2016, about 400 to 500 Rajasthani people took part in it, in 2019 this number can increase to more than a thousand. Rajasthani dish is prepared like dal, bati and churma. This time, everyone will enjoy food in desi style. They play only Rajasthani folk music.

The best thing is in the ceremony is that no groups are performing here. All volunteers, their families and children take part in performances. children are well groomed in Rajasthani dressed in the fashion show. In the end, all women gather and dance at Rajasthani folk music. All the activities of jeeman are done by the guest and volunteers.

last year Jodhpur’s Maharaja Gaj Singh ji came for the festival. This time, Deputy Commissioner of London Charanjit Singh is going to be guests in the ceremony.

Rajasthan Association is also publishing a magazine “jeeman”. people are saying that the upcoming generation should stay connected with Rajasthani culture in London. the world likes Rajasthani culture. In London, the Rajasthani people see less in comparison to Punjabi and Gujaratis. So many people gathered together in London. This is a  significant beginning. This is a great effort to introduce Rajasthani culture around the world.

 

23 जून को लंदन में होने जा रहा है जीमण। विदेशी धरती पर राजस्थानी रंग बिखरेंगे।

विदेशी धरती पर राजस्थानी संस्कृति को संजो कर रखने वाली राजस्थान एसोसिएशन यूके की तरफ से पिछले चार साल से जीमण का आयोजन किया जा रहा है और इस बार जीमण की तैयारी ज़ोर -शोर से चल रही है। लंदन के हर हिस्से में रहने वाले लोग इस समारोह में आते हैं।

आयोजन में सभी पुरुष और महिलाएं पारंपरिक राजस्थान परिधान में नजर आएंगे।  विदेशी धरती पर में होने वाले इस कार्यक्रम से राजस्थान के सभी प्रवासियों को अपनी धरती और संस्कृति से जुड़े रहने का संदेश मिलता है।

जीमण में आने सभी लोगो का कहना है विदेशी धरती पर रहते हुए भी अपने देश की मिट्टी को भूल नहीं पा रहे थे और इसीलिए उन्होंने इस एसोसिएशन का निर्माण किया और हर साल गणगोर और जीमण समारोह किया जाता है

राजस्थान एसोसिएशन यूके के द्वारा गणगौर त्यौहार मे गौर और इसरजी की मूर्ति की सवारी निकाली जाती है। मूर्तियों का निर्माण और उनके श्रृंगार व कपडे सब कुछ जोधपुर राजस्थान से किया गया और बाद में लन्दन मंगवाया गया। गोवर और इसर जी की  पूजा और गणगौर का त्यौहार मार्च मे मनाया जाता है।

जीमण 2016 मे करीब 400 से 500 राजस्थानी लोगों ने उसमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था, इस साल यह संख्या बढ़कर एक हजार से ज्यादा हो सकती है। जीमण में राजस्थानी पकवान दाल,बाटी व चूरमा पकाया जाता है। इस बार समारोह में सभी लोग  नीचे बैठकर पूरे देसी तरीके में खाने का लुफ्त उठाने वाले है। राजस्थानी संगीत बजाया जाता है जिसमे सभी महिलाएं,पुरुष और बच्चे को संगीत का आनंद उठाते हैं। समारोह में सबसे अच्छी बात यह देखने को मिलती है किसी भी समूह के द्वारा यहां पर प्रस्तुति नहीं दी जाती। सभी कार्यकर्ता,उनके परिवार के लोग और बच्चे इस समारोह में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं। समारोह में बच्चों का फैशन शो किया जाता है जिसमे बच्चों को राजस्थानी पोशाक पहनाई जाती है और बड़ी खूबसूरती से छोटे -छोटे बच्चे  मंच पर चलते है।

आखिर में सभी महिलाएं इकट्ठे होकर राजस्थानी लोक नृत्य घूमर करती है। जीमण का  सारा कार्यभार वहां के पुरुषो, महिला, कार्यकर्ताओं और आने वाले मेहमानों के द्वारा किया जाता है।

जीमण 2018  समारोह में जोधपुर के महाराजा गज सिंह जी का आना हुआ और उन्होंने इस समारोह की शोभा बढ़ाई। इस बार लंदन के डेप्युटी कमिश्नर चरणजीत सिंह जी समारोह में मेहमान बन कर आने वाले हैं। राजस्थान एसोसिएशन के द्वारा जीमण नाम से एक मैगजीन भी पब्लिश की जाती है। कार्यकर्ताओ का कहना है कि आने वाली पीढ़ी को राजस्थानी संस्कृति से जुड़े रहने के लिए  समारोह लंदन में करवा रहे हैं। इस समारोह में आने वाले सभी मेहमान व कार्यकर्ता मन और धन से कार्यक्रम में हाथ बढ़ाते है।

दुनिया भर में लोग राजस्थानी संस्कृति को पसंद करते आ रहे हैं। लंदन मे पंजाबी और गुजरातियों के मुकाबले राजस्थानी लोग कम देखने को मिलते हैं।विदेशी धरती पर इतने सारे लोगों का एक साथ इकट्ठे होना बहुत ही बड़ी शुरुआत है। दुनिया भर में राजस्थानी संस्कृति को रूबरू करवाने का बहुत बड़ा प्रयास है।

Like
Like Love Haha Wow Sad Angry
1
Tags

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close